HP Doodh Ganga Yojana 2022 Online Application Last Date

Himachal Pradesh Dudh Ganga Yojana Scheme 2022

आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको हिमाचल सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना की जानकारी देने वाले हैं। जिसका नाम Doodh Ganga Yojana 2022 है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार दूध उत्पादन कार्यों से जुड़े नागरिकों को ₹300000 तक का लोन बहुत ही कम ब्याज दर पर उपलब्ध कराएगी। जिसके तहत राज्य के छोटे डेरी फार्मिंग और संगठित विकसित डेयरी व्यवसाय में बदलाव उत्पन्न हो सकेगा। तो मित्रों यदि आप भी इस योजना की जानकारी प्राप्त करने के लिए इच्छुक हैं। तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें। आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि दूध गंगा योजना क्या है, इसका उद्देश्य ,लाभ एवं विशेषताएं ,पात्रता आवश्यक दस्तावेज के साथ साथ आवेदन की प्रक्रिया के बारे जानकारी प्रदान करेंगे।

Doodh Ganga Yojana 2022

हिमाचल सरकार द्वारा दूध गंगा योजना का आरंभ किया गया है। जिसके माध्यम से राज्य के दूध उत्पादन क्षेत्र से जुड़े पशु पालकों ,दुग्ध उद्यमियों एवं किसानों को ₹300000 तक ऋण प्रदान किया जाएगा। भारत सरकार द्वारा सन 2010 में पशुपालन विभाग द्वारा डेयरी उद्यम पूंजी योजना के रूप में ग्रामीण विकास बैंक एवं राष्ट्रीय कृषि के माध्यम से इस योजना का आरंभ किया गया था। जिसका शुरुआती नाम दूध गंगा परियोजना {डेरी वेंचर कैपिटल फंड} था। जिसके अंतर्गत लाभार्थी नागरिकों को ब्याज मुक्त ऋण देने का प्रावधान था

अब राज्य सरकार द्वारा इस योजना का नाम बदलकर दूध गंगा योजना {एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट स्कीम} कर दिया गया है। जिसके अंतर्गत पात्र नागरिकों को ब्याज मुक्त ऋण देने के बदले लोन की राशि पर सब्सिडी प्रदान की जा रही है। जिसकी सहायता से परंपरागत तकनीकियों के कार्यों को पशुपालकों को आधुनिक मशीनरी से जोड़ा जा सकेगा। Doodh Ganga Yojana 2022 राज्य में दुग्ध उत्पादन गतिविधियों में पारदर्शिता उत्पन्न करेगी। राज्य सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से राज्य को प्रतिवर्ष की 350 लाख लीटर दूध देने का लक्ष्य निश्चित किया गया है।

Doodh Ganga Scheme 2022 Apply Online

Highlights of Doodh Ganga Yojana 2022 Details in Hindi

योजना का नाम दूध गंगा योजना
शुरू की गई भारत सरकार के पशुपालन विभाग द्वारा
आरंभ वर्ष सन् 2010
लाभार्थी दुग्ध उत्पादन उद्योग से जुड़े लोग
उद्देश्य ऋण उपलब्ध करवाना
ऋण की राशि 30 लाख रुपए तक
साल 2022
राज्य हिमाचल प्रदेश
अधिकारिक वेबसाइट http://hpagrisnet.gov.in/

दूध गंगा योजना के तहत लोन विवरण

  1. राज्य सरकार द्वारा दूध उत्पादों को धुलाई एवं कोल्ड चैन सुविधा के लिए 00 लाख रुपए तक का लोन पशुपालकों को प्रदान करेगी।
  2. इसके साथ ही सरकार मोबाइल इकाई हेतु 40 लाख लोन देने के साथ-साथ स्थाई इकाई हेतु 1.80 लाख का लोन भी प्रदान करेगी।
  3. दूध गंगा योजना के माध्यम से सरकार 2 से 10 दुधारू पशुओं हेतु पशुपालन किसानों को 500000 तक का लोन बहुत आसानी से उपलब्ध कराएगी।
  4. इसके साथ ही 5 से 20 बछड़ा पालन हेतु 80 लाख रुपए तक का लोन भी पशुपालन को आसानी से प्रदान किया जाएगा।
  5. दूध गंगा योजना के तहत दूध धोने की मिल्कोटैस्टर बड़े दूध कूलर (2000 लीटर तक) के लिए 00 लाख रुपए तक का लोन भी प्रदान करेगी।
  6. पात्र नागरिकों के लिए दूध से देसी पदार्थ बनाने के लिए मशीनों हेतु 00 लाख तक का लोन देगी।
  7. इसके साथ ही हिमाचल सरकार निजी पशु चिकित्सा इकाइयों हेतु को भी लोन प्रदान करेगी।
  8. राज्य सरकार दूध उत्पादन बेचने हेतु बूथ निर्माण के लिए 56 लाख रुपए तक का लोन किसानों को उपलब्ध कराएगी।
  9. Doodh Ganga Yojna के माध्यम से वर्मी कंपोस्ट जो दुधारू गायों की इकाइयों के साथ जुड़े होंगे। उन्हें भी जीरो पॉइंट 20 लाख तक का लोन में प्रदान कराया जाएगा।
  10. इसके साथ ही दूध उत्पादन हेतु किस भंडारण एवं कोल्ड स्टोरेज हेतु 3000 तक का लोन पशुपालनओ को भी प्रदान किया जाएगा।

दूध गंगा योजना के तहत प्रदान की जाने वाली सब्सिडी का विवरण

हिमाचल सरकार द्वारा शुरू की गई दूध गंगा योजना के माध्यम से राज्य के पशुपालकों एवं किसानों को दूध का कारोबार शुरू करने के लिए लोन प्रदान किया जाएगा। जिसके अंतर्गत कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत ऋण लेने पर सब्सिडी की राशि वर्ग के माध्यम से निर्धारित की गई है। जैसे कि एस टी ST/SC वर्ग के लाभार्थियों को 33 परसेंट ,सामान्य वर्ग के लाभार्थियों को 25 परसेंट दी जाएगी। इसके साथ ही Doodh Ganga scheme हेतु सरकार के माध्यम से अतिरिक्त सब्सिडी पात्र नागरिकों को पात्र नागरिकों को प्रदान की  जाएगी। जिसके माध्यम से पात्र नागरिकों खुद बिजनेस शुरू करने हेतु देसी  गाय/ भैंस खरीदने पर 20% एवं जर्सी गाय खरीदने पर 10% का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा।

Doodh Ganga Yojana का उद्देश्य

राज्य सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य हिमाचल के दूध के छोटे उद्योगों एवं डेयरी फार्म को बड़े बिजनेस कराने हेतु ऋण प्रदान करना है। Doodh Ganga Yojana के तहत राज्य के सभी पात्र नागरिकों को 30 लाख तक का लोन उचित ब्याज दर पर उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ ही नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी। दूध योजना के माध्यम से दूध के क्षेत्र में आने वाले सभी नागरिकों को परंपरागत तकनीक के माध्यम से जोड़ना भी है।

जिसके तहत आने वाले समय में दूध के सभी कार्यों में पारदर्शिता भी उत्पन्न होगी। इसके साथ ही सरकार द्वारा शुरू की गई दूध गंगा योजना के माध्यम से 10000 समूह के तहत 50,000 ग्रामीण परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। जिसके माध्यम से राज्य के सभी नागरिक आत्मविश्वास एवं  सशक्त बनेंगे।  राज्य सरकार द्वारा यह भी घोषणा की गई है , कि हर वर्ष इस योजना के तहत 350 लाख लीटर दूध उपलब्ध कराएगी ।

हिमाचल प्रदेश दूध गंगा योजना 2022 के लाभ एवं विशेषताएं

  • भारत सरकार द्वारा पशुपालन विभाग द्वारा डेयरी उद्यम पूंजी योजना के रूप में ग्रामीण विकास बैंक के तहत इस योजना की शुरुआत की गई है।
  • हिमाचल प्रदेश दूध गंगा योजना 2022 के राज्य के छोटे छोटे दूध के छोटे छोटे कार्यों को शुरू करने हेतु 30 लाख तक का लोन प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से पात्र नागरिकों को उनके वर्ग के माध्यम से लोन पर प्रदान की जाएगी।
  • दूध योजना के तहत एससी एवं एसटी के लाभार्थियों को 33% सामान्य वर्ग के लाभार्थियों को 25% सब्सिडी प्रदान की जाती है।
  • राज्य सरकार द्वारा देसी भेंस खरीदने पर 20% एवं जर्सी गाय खरीदने पर 10% की ओर अतिरिक्त सब्सिडी मुहैया कराई जाएगी।
  • Dhoodh Ganga Yojana योजना के माध्यम से सरकार प्रतिवर्ष 350 लाख लीटर दूध प्रदान करेगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में रोज़गार उत्पन्न होगा बेरोज़गारी की समस्या खत्म होगी।

पात्रता मानदंड

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाले हिमाचल प्रदेश के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • इसके साथ ही एक परिवार के अंतर्गत एक ही सदस्य अपनी अलग-अलग इकाइयों जगहों पर स्थापित दूध गंगा योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र है। जिनके बीच की दूरी स्थापित इकाइयों से कम से कम 500 मीटर दूर होनी चाहिए।
  • इस योजना का लाभ व्यक्ति विशेष/स्वयं सहायता समूह/गैर सरकारी संगठन/दुग्ध संगठन/दुग्ध सहकारी सभाएं/कंपनियां से संबंध रखने वाले पात्र है।

Dhoodh Ganga Yojana के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है?

  1. सर्वप्रथम आपको हिमाचल प्रदेश की Department Of Animal Husbandry अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. वेबसाइट पर प्रवेश करने के पश्चात आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा। image-1
  3. वेबसाइट के होम पेज पर आपको दूध गंगा योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदर्शित हो जाएगी। जिसके माध्यम से आप योजना का लाभ उठा सकते हैं।
Apply Online Link Click Here
PMHelpline Homepage Click Here

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.