Rashtriya Poshan Maah 2022 in Hindi Poshan Abhiyaan Scheme

Rashtriya Poshan Abhiyaan Scheme 2022

Rashtriya Poshan Maah 2022 | राष्ट्रीय पोषण अभियान 1 से 30 सितंबर मनाया जाएगा | 5th Rashtriya Poshan Abhiyan 2022 | राष्ट्रीय पोषण माह पूरी जानकारी हिंदी में

हर वर्ष महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से  शिशु के जन्म पर जच्चा एवं बच्चा हेतु एक पोषण कार्यक्रम चलाया जाता है। वर्ष 2022 में यह कार्यक्रम 1 से 30 सितंबर तक मनाया जाएगा। जो कि इस बार महिला और स्वास्थ्य और बच्चे और शिक्षा पर केंद्रित रहेगा। स्मृति ईरानी जो के महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं उन्होंने कहा है कि इस साल के पोषण का मुख्य उद्देश्य है यह रहेगा कि ग्राम एवं पंचायतों के माध्यम से यह Rashtriya Poshan Maah 2022 में शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही महिला के स्वास्थ्य और बच्चे की शिक्षा पर ध्यान दिया जाएगा।

इस पोषण माह हेतु गांव की पंचायत समितियों में उपस्थित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आशा कार्यकर्ता और उनके साथ गांव में गर्भवती एवं दूध पिलाने वाली महिलाओं के साथ साथ 6 साल से कम आयु वाले बच्चों को उनके पोषण से संबंधित जागरूक रखा जाएगा। उनको पोषण से संबंधित सभी जानकारी उनके गुण बताए जाएंगे। इसी के साथ यह इस 1 से 30 सितंबर तक चलाए जाने वाले पांचवे पोषण माह पर पंचायत स्तर पर स्थानीय कार्यकर्ताओं द्वारा विभिन्न गतिविधियों को संचालित किया जाएगा। यदि आप Rashtriya Poshan Maah 2022 से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तब हमारा आपसे अनुरोध है कि हमारे इसलिए को पूरा अंत तक पढ़े और पोषण माह संबंधित सभी जानकारी प्राप्त करें।

Rashtriya Poshan Maah 2022

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने कार्यक्रम में रेडियो के माध्यम से संबोधन करते हुए देश के नागरिकों से यह अपील की है कि वे राष्ट्रीय पोषण माह 2022 में मनाए। Rashtriya Poshan Maah 2022 के अंतर्गत जन आंदोलन को जन भागीदारी में बदलना और सुपोषित भारत के विजन को पूरा करना है। जिसके माध्यम से यह उद्देश्य रखा जाएगा कि पोषण से संबंधित सभी जानकारी लोगों तक पहुंचाई जाए। सरकार के माध्यम से राज्य स्तर पर राष्ट्रीय पोषण माह 2022 में  पारंपरिक व्यंजनों को ध्यान  में रखकर गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। जिसके लिए  “अम्मा की रसोई” के अंतर्गत  व्यंजनों व खाद्य पदार्थों को कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

भारत के अंतर्गत पांचवा राष्ट्रीय पोषण माह को शुरू कर दिया गया है। जिसके माध्यम से सरकार ने इस बार यह उद्देश्य रखा है कि इस बार ग्राम पंचायत स्तर तक कार्यक्रमों की श्रंखला को तैयार किया जाएगा और इसके साथ ही पंचायत राज्य स्तर पर गतिविधियों के तहत लोगों तक पारंपरिक पोस्टिक व्यंजनों की हेतु अमर के सभी संचालित की जाएगी। इसी के साथ राष्ट्रीय स्तर पर खिलौने बनाने की कार्यशाला हेतु आंगनवाड़ी केंद्रों में सिखाने के लिए पारंपरिक और स्थानीय लोगों को बढ़ावा देने के लिए भी इस पोषण माह को शुरू किया गया है। यह Rashtriya Poshan Maah 2022 में 1 सितंबर से 30 सितंबर 2022 तक संचालित किया जाएगा।

Rashtriya Poshan Maah 2022 Apply Online

Highlights of Rashtriya Poshan Maah 2022 Details

योजना का पूरा नाम Rashtriya Poshan Maah 2022
किसने आरंभ की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
संबंधित विभाग महिला एवं बाल विकास मंत्रालय
संबंधित अभियान पोषण अभियान
संचालित अवधि 1 सितंबर से लेकर 30 सितंबर 2022 तक
लाभार्थी 6 साल से कम आयु के बच्चे एवं किशोरिया, गर्भवती महिलाएं एवं दूध पिलाने वाली माताएं,
उद्देश्य पोषण के प्रति जागरूक करना
साल 2022
ऑफिसियल वेबसाइट https://pib.gov.in/

प्रधानमंत्री पोषण अभियान क्या है?

पोषण के कमी से होने वाले कुपोषण रोग फैलने के कारण हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के माध्यम से 8 मार्च 2018 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर इस प्रधानमंत्री पोषण अभियान को शुरू किया गया था। जिसके माध्यम से गर्भवती एवं बच्चे तथा दूध पिलाने वाली माताओं और उनके साथ 6 साल से कम आयु के बच्चों की छोरियों को पो से संबंधित समस्याओं का समाधान किया जाएगा। इसके अंतर्गत उन सभी को घोषित किया जाएगा।

जिसके माध्यम से वह कुपोषण से संबंधित समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। पूरे भारत में इस अभियान को आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से संचालित किया जाएगा। इसके लिए उन्हें ₹500 उनकी सैलरी से ज्यादा दिए जाएंगे प्रधानमंत्री पोषण अभियान के माध्यम से दूध पिलाने वाली महिलाओं गर्भवती महिला और 6 साल से कम आयु के बच्चों को पोषण के बारे में जागरूक किया जाएगा। Rashtriya Poshan Maah 2022 में अभी तक आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से घर-घर पोस्टिक आहार दिया जाएगा।

Rashtriya Poshan Maah 2022 का उद्देश्य

पूरे देश में कुपोषण से संबंधित समस्याएं तेजी से फैल रही थी। जिसके माध्यम से हमारे देश के भविष्य यानी के हमारे देश के बच्चों को सुपोषित करना बहुत बड़ा उद्देश्य बन गया था। जिसके लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय पोषण में 2022 की शुरुआत की है। जिसके माध्यम से महिला और स्वास्थ्य तथा बच्चे और शिक्षा पर ध्यान दिया जाएगा तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर भर भर पोस्टिक आहार दिया जाएगा।

जिसके अंदर गर्भवती एवं दूध पिलाने वाली माता और 6 साल से कम आयु के बच्चों के लिए मेलों का आयोजन भी किया जाएगा। और साथ-साथ उनके पोषक तत्व परिणाम को सुलझाने का प्रयास भी किया जाएगा। राष्ट्रीय पोषण, पोषण 2.0 के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए चलाया जाएगा। Rashtriya Poshan Maah 2022 का उद्देश्य कार्यक्रम के माध्यम से 1 माह तक लोगों तक पोषक तत्व से संबंधित जागरूकता फैलाई जाएगी।

राष्ट्रीय पोषण माह 2022 के मुख्य बिंदु

  1. इस माध्यम से महिला और स्वास्थ्य तथा बच्चे और शिक्षा पर ध्यान दिया जाएगा तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर भर भर पोस्टिक आहार दिया जाएगा।
  2. गर्भवती एवं दूध पिलाने वाली माता और 6 साल से कम आयु के बच्चों के लिए मेलों का आयोजन भी किया जाएगा।
  3. सरकार के माध्यम से राज्य स्तर पर राष्ट्रीय पोषण माह 2022 में पारंपरिक व्यंजनों को ध्यान  में रखकर गतिविधियां आयोजित की जाएंगी।
  4. जिसके लिए  “अम्मा की रसोई” के अंतर्गत  व्यंजनों व खाद्य पदार्थों को कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।
  5. पूरे भारत में इस अभियान को आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से संचालित किया जाएगा।
  6. इसके लिए उन्हें ₹500 उनकी सैलरी से ज्यादा दिए जाएंगे
  7. Rashtriya Poshan Maah 2022 के अंतर्गत जन आंदोलन को जन भागीदारी में बदलना और सुपोषित भारत के विजन को पूरा करना है।
Apply Link Click Here
PMHelpline Homepage Click Here

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.